मानव तस्करी का शक

0
10

रांची स्टेशन पर रोकी गई 14 लड़कियां, हैदराबाद जाने की थी तैयारी

मानव तस्करी की आशंका के मद्देनजर रांची से हैदराबाद जाने वाली 14 लड़कियों को रेलवे पुलिस ने रोक लिया। बताया गया कि आठ नाबालिग लड़कियों और 6 युवतियों को सिलाई ट्रेनिंग के नाम पर हैदराबाद ले जाने की कोशिश की जा रही थी। उन्हें देर रात संदिग्ध अवस्था में स्टेशन में प्रवेश करते रेल सुरक्षा बल की महिला जवान ने उन्हें देख लिया। इसके बाद उन्होंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी सूचना दी। जिसके बाद इन लड़कियों को कोतवाली थाना प्रभारी को आगे की कार्रवाई के लिए सौंप दिया गया।

रेल सुरक्षा बल की महिला जवान को हुआ शक
रेल पुलिस अधिकारी ने बताया कि इन युवतियों ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि उन्हें सिलाई ट्रेनिंग के लिए ट्रेन (07008) से हैदराबाद ले जाया जा रहा है। इसको मामले में पूछताछ पर इन सभी ने न किसी संस्था का नाम बताया, ना ही ट्रेनिंग के लिए कोई वैधानिक दस्तावेज पेश किए। इस दौरान उनके परिजन से बात करने पर पता चला कि उन्हें भी इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। जिसके बाद रेल सुरक्षा बल के जवानों ने सभी युवतियों को कोतवाली थाने को सुपुर्द कर दिया।

पुलिस कर रही मामले की जांच
बताया गया कि 2 अक्टूबर की रात में आरपीएफ की महिला जवान खशबु कुमारी ने चेंकिंग के दौरान रांची स्टेशन के प्रवेश द्वार पर 14 लड़कियों संदिग्ध अवस्था में प्रवेश करते देखा। संदेह होने पर उन लोगों से पूछताछ की और इसकी सूचना मानव तस्करी पर अंकुश लगाने वाली टीम ‘नन्हे फरिश्ते’ और अपने अधिकारियों को दिया। ये सभी युवतियां लातेहार जिले की रहने वाली हैं। इनकी उम्र 11 से 22 वर्ष के बीच है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here